अनशन पर बैठे कपिल मिश्रा पर हुआ हमला, AAP कार्यकर्ता ने मारे लात-घूंसे

होम स्लाइडर

अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ रुपए का घूस लेने का आरोप लगाने वाले कपिल मिश्रा पर बुधवार को हमला हो गया. वे बुधवार से अपने घर के बाहर अनशन पर बैठे हैं. इसी दौरान यहां एक शख्स आया और उन्हें लात-घूंसे से मारने लगा. हमला करने वाले शख्स का नाम अंकित भारद्वाज बताया जा रहा है. वह हरे रंग की टीशर्ट में आया था.

हमला करने वाले की पिटाई
इस घटना के बाद वहां मौजूद कपिल मिश्रा के समर्थकों ने आरोपी को पकड़ लिया. बताया जा रहा है कि लोगों ने उसकी भी जमकर पिटाई की. हमले के बाद कपिल ने कहा कि एक लड़के ने मेरे पर हमला किया. हमारे ऊपर कोई हमला करे तो करने देंगे. हमारे लोग उस पर हमला न करें. अगर ऐसा हुआ तो मैं पानी छोड़ दूंगा. वहीं आरोपी ने कहा कि इन्होंने पार्टी को धोखा दिया. मुझे किसी ने नहीं भेजा. मैं अपने आप आया हूं.

कपिल को जानता है हमलावर
पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अंकित ने पुलिस को बयान दिया है कि वो आम आदमी पार्टी का ही कार्यकर्ता है, कपिल और वो एक दूसरे को अच्छे से जानते हैं. घटना से करीब आधे घंटे पहले वो कपिल मिश्रा से मिला था, दोनों ने हाथ भी मिलाया था. अंकित का कहना है कि उसके बाद जब वो धरने पर बैठने और पार्टी के खिलाफ बोलने की वजह पूछने गया तो, कपिल के ही साथियों ने उसको मारा. अंकित का कहना है कि मैंने कोई हमला नही किया, उल्टा मुझे पीटा गया.

अनशन पर क्यों बैठे हैं कपिल मिश्रा
पिछले दिनों केजरीवाल सरकार ने जल मंत्री कपिल मिश्रा को पोस्ट से हटा दिया. इसके बाद अगले दिन कपिल ने केजरीवाल पर सत्येंद्र जैन से 2 करोड़ रुपए कैश लेने का आरोप लगाया. इसके बाद पीएसी की मीटिंग में कपिल को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी सस्पेंड कर दिया गया. इसके बाद कपिल ने केजरीवाल के साढ़ू और सत्येंद्र जैन पर घोटाले के आरोप लगाए. बुधवार से वे अपने घर पर ही अनशन कर रहे हैं.

कपिल मिश्रा ने अब AAP नेताओं की विदेश यात्राओं की जानकारी सार्वजनिक किए जाने की मांग को लेकर अनशन शुरू कर दी है. अपने घर के बाहर की अनशन पर बैठे कपिल मिश्रा ने AAP के पांच नेताओं संजय सिंह, आशीष खेतान, सत्येंद्र जैन, राघव चड्ढा और दुर्गेश पाठक की विदेश यात्राओं की सारी जानकारियां सार्वजनिक की जाए. उन्होंने कहा कि यह अनशन नहीं, बल्कि सत्याग्रह है और केजरीवाल जब तक इन यात्राओं की जानकारी सार्वजनिक नहीं करते, तब वह भूख हड़ताल पर रहेंगे, बस जल ग्रहण करेंगे.


Comment






Total No. of Comments: