** हमले के आरोपी की गिरफ़्तारी और निलंबन को लेकर धरने पर बैठे शाहजहाँपुर के सभी पत्रकार **

राष्ट्रीय


 
** उदित शर्मा जर्नलिस्ट शाहजहाँपुर उत्तर प्रदेश की कलम से **

शाहजहाँपुर विगत 2 अप्रैल को दलित आन्दोलन की कवरेज करते समय अपना फोटो खिंच जाने से बौखलाए GTI हरदोई के प्रिंसपल राजन सिंह और उसके साथियों ने शाहजहांपुर के वरिष्ठ पत्रकार धनंजय वाजपेयी के साथ मारपीट कर  कैमरा मोबाईल तोड़कर गायब कर दिया और इतना ही नहीं खबर चलानें पर जान से मारनें की धमकी तक दे डाली|जिसका मुकदमा काफी जद्दोजेहद के बाद थाना सदर बाज़ार में अगले दिन पर दर्ज हुआ था परन्तु पुलिस और प्रशासन ने घटना लगभग दो सप्ताह बीत जाने के बाद भी आरोपी की गिरफ्तारी करना तो दूर पीड़ित पत्रकार का बयान लेना भी उचित नहीं समझा तब जाकर सभी पत्रकारों ने पत्रकार संघर्ष समिति के तत्वावधान में एक जुट होकर कल पीडब्लयूडी में मीटिंग कर एक राज्यपाल राम नाईक के नाम संबोधित ज्ञापन एडीएम जितेन्द्र शर्मा के निर्देशा अनुसार अतिरिक्त मजिस्ट्रेट सरोज कुमार सरोज को सभी पत्रकारों ने मिलकर शौंपा और कार्रवाई ना होनें तक आज जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है|बताया जा रहा है| जिस सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया आरोपी राजन सिंह उसी सरकार के कद्दावर मंत्री की शरण में पहुँच चुका है| और मंत्री के भय के कारण प्रशासन बौना साबित नजर आ रहा है|सबसे हैरत की बात यह है| की हरदोई में एक राजकीय संस्था का प्राचार्य खुले आम प्रशासन के सामने सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है| और पत्रकार को खुलेआम धमकी भी दे रहा है|पत्रकार के सामने मौजूद प्रशासन के ही सामने एक पत्रकार के साथ मार पीट और लूट जैसी घटना को अंजाम देकर दबंग प्राचार्य चला जाता है|जबकि इस भ्रष्ट प्राचार्य का पिछला रिकार्ड भी किसी से छुपा नहीं है|
आरोपी राजन सिंह बामसेफ का सक्रीय सदस्य की भूमिका हमेशा निभाता आया है| और इस समय नगर के कद्दावर मंत्री की शरण में पहुँच कर कानून को ठेंगा दिखा रहा है|
 
~आपको बतादें की सबसे बड़ी चौंकाने वाली बात यह है|कि जिस शासन सत्ता और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया जा रहा था उन्हीं सरकार के मंत्री उस दबंग
षड्यंत्र कारी जीटी आई के प्रंसिपल को शरण दे रहे हैं|अरे सरकार के दो मुहें नेताओं यही जब मीडिया तुम सबको कटघरे में खड़ा करेगी तब याद करोगे की मीडिया क्या होती है|अगर नहीं मालूम है|तो ताजा उदाहरण उन्नाव का ही देख लो की कैसे षड्यंत्र कारी और बलात्कारी कैसे अंदर गये हैं|अरे सरकार में रहकर कुछ तो शर्म करो की हम क्या हैं|और हमारी मर्यादा और रूल क्या है|
हर व्यक्ति हर नेता मंत्री को हमेशा वोट की राजनीति नहीं करनी चाहिए इसका खामियाजा बहुत लंबा भुक्तना पड़ता है|अभी समय है|सुधर जाओ अच्छे अच्छे मंत्री सलाखों के पीछे चले गये हैं|इसलिए पत्रकारों के खिलाफ ज्यादा राजनीति करनें की जरूरत नहीं है|अपनी राजनीति उस मासूम भोली भाली जनता को दिखाओ जो तुम्हें आका समझती है|और तुम्हारे रहमों कर्म पर चलती है|हम पत्रकारों के बीच में रोड़ा और राजनीति पैदा करोगे तो अपनी राजनीति में खुदबाखुद फंस जाओगे|जबकि उत्तर प्रदेश सरकार और भारत सरकार ने पत्रकारों की सुरक्षा के वादे किये थे वह भी हवा हवाई साबित हो रहे हैं|और शाहजहाँपुर में आरोपी राजन सिंह की गिरफ़्तारी ना होके उल्टा पत्रकार के ही विरुद्ध झुटा मुकदमा लिखानें का षड्यंत्र रचा जा रहा है|
अगर ऐसा खेल चलता रहा तो दूसरा जगेंद्र पैदा होनें में समय नहीं लगेगा और यह कार्य कोई और नहीं शाहजहाँपुर के पत्रकार ही शाहजहाँपुर के मंत्रियों के साथ करनें के लिए हर समय हर वक्त तैयार हैं| अगर हमारे पीड़ित पत्रकार को न्याय नहीं मिला तो पीड़ित पत्रकार के साथ हजारों पत्रकार मुख्यमंत्री का घेराव करनें में पीछे नहीं हटेंगे मौके पर कौशलेंद्र मिश्रा राजीव शर्मा अमित त्यागी जरीफ मलिक राकेश शुक्ला राजीव गुप्ता  सुशील शर्मा उदित शर्मा अनुराग मिश्रा सुशील शुक्ला दीपक दीक्षित रोहित पांडेय ABP News अंकित शर्मा एल के मिश्रा अनिल मिश्रा राजीव शुक्ला वेदप्रकाश मिश्रा रोहित पांडेय राजेन्द्र बाबा रजत पांडेय राजा शर्मा  सहित सैकड़ों पत्रकार मौजूद रहे


Comment






Total No. of Comments: