देश भर में आज से लगेगी बिल्डरों की मनमानी पर लगाम, झारखंड को अब भी इंतजार

झारखण्ड

देश के 12 राज्यों में बिल्डरों पर शिकंजा कसने वाला कानून सोमवार से लागू हो रहा है. वहीं झारखंड में रियल एस्टेट बिल को कैबिनेट की बैठक का इंंतजार है.

क्या है मामला

बिल्डरों की मनमानी पर रोक लगाने वाला रियल  एस्टेट (रेग्यूलेशन एंड डेवलपमेंट) एक्ट 2016 (रेरा) सोमवार यानि पहली मई से  देश के 12 राज्यों में लागू हो जाएगा. इससे जहां फ्लैट की खरीद-बिक्री में पारदर्शिता आएगी, वहीं उपभोक्ता के अधिकारों की भी सुरक्षा होगी.

झारखंड को इंतजार

 

झारखंड में यह कानून अभी लागू नहीं हो सकेगा. हालांकि राज्य का नगर विकास एवं आवास विभाग इस बिल का ड्राफ्ट तैयार कर चुका है.  अब विधि विभाग की स्वीकृति के बाद इसे कैबिनेट की स्वीकृति के लिए भेजा जाएगा. इसके बाद ही इसे राज्य भर में लागू किया जाएगा.

क्या हैं प्रावधान


  • राज्यों को प्राधिकरण का गठन करना होगा. इसमें रियल एस्टेट एजेंट का रजिस्ट्रेशन जरूरी होगा.

  • 500 वर्ग मीटर में जो भी कंस्ट्रक्शन वर्क होगा, इस दायरे में आ जाएंगे.

  • प्रोजेक्ट का पूरा ले आउट और नक्सा डिस्प्ले बोर्ड पर लगाना होगा.

  • परियोजनाओं के निर्माण के लिए अलग बैंक खाता होना जरूरी है. यह ऐसा खाता होगा जिसमें से केवल परियोजना के निर्माण संभबी जरुरत पूरी करने के लिए ही निकासी हाे सकेगी. खरीदार से मिली राशि का 70 प्रतिशत इसमें जमा करना होगा.

  • कंस्ट्रक्शन में गड़बड़ी का पांच साल तक दायित्व डेवलपर्स पर होगा.

  • कानू में प्राधिकरण के आदेश के उल्लंघन पर डेवलपर्स के लिए तीन साल तक और खरीदार एजेंट के लिए एक साल तक सजा का प्रावधान किया गया है.


Comment






Total No. of Comments: