बैगा आदिवासी के बेटे ने रचा इतिहास, आईआईटी-जेईई मेन पास की

मध्य प्रदेश

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने जब आईईटी-ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) मेन 2017 के नतीजे घोषित किए तो मंडला जिले में हर किसी की चेहरे पर अलग ही मुस्कान थी. यह कामयाबी और अथक मेहनत की मुस्कान थी.

दिलचस्प बात यह है कि इस बार मध्य प्रदेश के आदिवासी बाहुल्य मंडला जिले से 63 छात्रों का जेईई मेंस की परीक्षा में चयन हुआ है. इनमें एक बैगा आदिवासी समाज का छात्र राज राजेश्वरी भी शामिल है. राज की यह उपलब्धि इसलिए बेहद सराहनीय है, क्योंकि बैगा प्रदेश की बेहद पिछड़ी जातियों में से एक है.

हर किसी का जीता दिल
पिछले साल भी बैगा समाज के गीता और संतोष ने आईआईटी जेईई की मुख्य परीक्षा पास की थी. उनकी इस शानदार कामयाबी ने हर किसी का अपनी ओर ध्यान खींचा था. इसी सफलता को इस बार भी बैगा समाज के राज राजेश्वरी ने आगे बढ़ाया है.


Comment






Total No. of Comments: